भारत के परमाणु प्लांट में कहीं खुशी तो कहीं चिंता

भारत के परमाणु प्लांट में कहीं खुशी तो कहीं चिंता

नयी दिल्ली: भारत के बेहद सुरक्षित परमाणु प्रतिष्ठान में माहौल में भिन्नता है। दक्षिण भारत स्थित परमाणु प्रतिष्ठान में जहां खुशी का माहौल है, वहीं पश्चिमी भारत स्थित प्रतिष्ठान का माहौल चिंता वाला है।  

 

भारत के अंतिम छोर यानी कन्याकुमारी के पास ही स्थित भारत के सबसे बड़े परमाणु उर्जा पार्क कुडनकुलम का संचालन शुरू हो चुका है। 1,000 मेगावाट के दो परमाणु रिएक्टरों में पहली बार परमाणु विखंडन की अभिक्रिया हो रही है। पहली इकाई ने वर्ष 2013 में बिजली की आपूर्ति शुरू कर दी थी और दूसरी इकाई इस सप्ताह सक्रिय हो गई। यह इकाई कुछ ही सप्ताह में ग्रिड को बिजली की आपूर्ति शुरू कर देगी।